माई सेक्सी टीचर

हाइ दोसतो मेरा नाम रज है मेन जैपुर हून ओर मेरि अगे 28 येअर है ओर मेन मर्रिएद हून। मैने कफ़ि सतोरी रेअद की है नेत पर। मुझे पधने मेन बहुत ही मज़ा आता है। मेरि भी एक सतोरी है लेकिन मैने उस्से कभी लिखा नही पर आज आप सबके लिये लिख रहा हून। मेन शदि सुदा हून ओर मेरि शदि को 5 साल हो गये है मेरि एक सलि है 18 साल की अभी एक साल पहले तक तो मेने उस्से इस्स तरह की नज़र से नही देखा था लेकिन उसकि तरफ से हिनत मिलने पर कुच उसके लिये मेन एक्सितेद हो गया। लेकिन अब पहल कोन करे मेन जैपुर मेन था ओर वो जैपुर से करिब 100 किलिमेतेर दूर एक तोवन मेन थी। सो फोने पर ही बाते होति थी ओर मैन फोने पर उसे इस बात के लिये अगरी करता की मेन कया चहता हून। लेकिन तुम लदकियोन की आदत होति है ना की जलदि से सब चहते हुए भी हान नही करति हो। इसलिये वो भी मना करति थी की किसि को पता चल जयेगा तो कया होगा जिजजि। लेकिन मैने उस्से कहा की किसको पता चलेगा मेन मोका देखकर ही काम करूनगा। वो मुझ पर पुरा विसवस करति है ओर मुझे पसनद भी बहुत करति है ओर मेरि नरज़गि का खयल भी है उस्से।

एक बार मेन ससुरल गया मेरि सौरल मेन सस ससुर सला ओर दो सलिया ओर सले के विफ़े है मेरे पस्स 800 मरुति सर है वो ही लेकर मेन जता हून ओर दो दिन तक मेन जब भी ससुरल जता हून तो रुकता हून। ओर इस्स दोरन कही भी अस्स पस्स सब लोग मेरि गदि मेन बेथकर घुमने भी जते है पर वहा पर वो मोका लगते ही मेरे पस्स आ जति है ओर बाते करति है ओर सच बतऊ तो मैने अभी तक उस्से तौच नही किया था कयोनकि मैने उस्से कह दिया था की जब तक वो नही चहेगि मेन उस्से तौच नही करूनगा। इसलिये मेन उस्से बाते ही करता हो जोर देता की वो मन जये लेकिन वो चहति थी मेन सही मोके के इनतज़ार मेन रहू ये कहा तो नही उस्सने पर मुझे ऐसा लगा। लसत तिमे तक जब मेन ससुरल गया अभी 3 मोनथ पहले तब तक मैने उस्से तौच नही किया था पर मैन उस्से ओर वो मुझे ऐसी बातो से एक्सितेद कर देते थे। इस्स बर मेन ससुरल गया तो हुम लोगा वहा से घुमने गये हरियना के एक धरमिक जगह पर जो वहा से 1।50 घनते की दूरि पर थी। मरुति मेन कितनि जगह होति है 3 आगे ओर 4 पीचे मेरे ससुर को चोदकर बकि सब गये थे तो वो हमेशा की तरह मेरे बजु मेन आगे बेथ गैए मतलब आगे मेन दरिवेर शीत पर ओर मेरे बगल मेन मेरि सलि ओर उसके बगल मेन मेरा सला यनि वो बीच मेन थी। बीच मेन जहा पर गदि के गेअर होते है उनके दोनो तरफ उसके तनगे थी। एक तनग तो मेरि तनग से सति हुई थी ओर एक तनग मेरे सले से ओर दोनो तनगो के बीच मेन गदि का गेअर था। मेन तो पहले से ही एक्सितेद था ओर वो मुझे बदि ही नसिलि आनखो से देख रही थी। मेन गदि दरिवे कर रहा था तो गेअर लगते हुए मैने पहल कर दी ओर उसकि जनघो को तौच करता था। वो सलवर शुत मेन थी। पज़मा धीला धला होता है लदकियोन का उसमे से मेन उस्से तौच करता ओर मेरा हथ गेअर पर ही रखे रखा। जब हुम जा रहे थे तो दिन का तिमे था सो मैने जयदा रिसक लेना थीक नही समझा ओर सिरफ़ तौच ही करता था जब गेअर लगता तो सहला देता था उसकि जनघो को ओर वो कसमसा जति थी ओर मेरि तरफ झुकि नज़रो से देखति थी। गेअर लगते तिमे मेरि कोहनि उसके बूबस पर थी तो वो भी अपने बूबस को मेरि कोहनि पर रगद देति थी। ये सिलसिला करिब 1।50 घते तक चला ओर हुम वहा पहुच गये। वो मुझसे वहा पर नज़रे मिलति ओर मुसकरा देति थी मेन भी एक्सितेद होकर मुसकरा कर रेपली देता लेकिन कहते कुच भी नही। अब वपस आते तिमे शम हो चुकि थी ओर अनधेरा हो चुक्का था।

उस्स अनधेरे मेन मैने अपने आपको उसकि तरफ से इनविततिओन समझ कर मेरे हथ को गेअर लगने के बाद उसकि जनघो को कस कर दबता रहा ओर मेरे हथ को उसकि चुत पर भी ले जने लगा तो वो कुच जयदा ही एक्सितेद हो रही थी ओर मेरि कोहनि से बूबस को रगद रही थी। इस्से मेरा तूल तो कफ़ि कदक हो चुक्का था फिर मैने थोदि देर बाद उसकि चुत मेन पज़मे के उपर से ही अपनि उनगलि से रब करने लगा ओर उनगलि से धक्का लगने लगा कुच देर बाद मैने उस्स अनधेरे मेन महसुस किया की उसकि पुस्सी पुरि तरह से गिलि हो चुकि थी ओर वो मसत हो गैए थी ना मेन उस्से कुच बोल रहा था ओर नही वो मुझसे। बकि सब लोग गदि मेन बाते कर रहे थे ओर किसि को कुच पता नही था हुमरि इस्स रसलिला का। कयोनकि वो लोग सब मुझे बहुत ही सरिफ़ मनते है। जब घर पर पहुचे तो वो मुझसे कुच नही बोलि पर मैने उस्से मुसकरा कर एक आनख से इशरा किया ओर वो मुसकरा कर बथरूम मेन चलि गैए। फिर वो मेरे पस्स जिस कमरे मेन मुझे सोना था जब भी मेन जता हून तो वो मेरे पस्स बेथ जति है ओर बाते करति है इसलिये उस्स दिन भी वो मेरे पस्स आ गैए मेन बेद पर लेता था ओर उस्से कोइ बात नही कर रहा था पर उसकि बेचेनि को समझ सकता था मेन उसने अनखो ही अनखो मेन बहुत कुच बोल दिया था मुझसे। मैने मोका देखकर उसका हथ पकद लिया ओर दबने लगा तो वो कुच भी नही बोलि फिर मैने उसके हथ को सहलते हुए मेरे हथ को उसकि कनधो पर ले गया ओर सहलने लगा फिर मैने थोदा ओर आगे बधते हुए उसके बूबस को दबा दिया ओर सहलने लगा तभी वो बोलि की जिजु कोइ देख लेगा।

मैने कहा की सब सो गये है कोइ नही देखेगा तो वो नही मनि तो मैने उस्से कहा की मेन उपर वले बथरूम मेन जा रहा हून तुम भी आ जना गरमि के दिन थे मेन चला गया। वो कुच देर बाद आ गैए मैने उस्से वहा पर पकद लिया ओर चुमने ओर सहलने लगा उसके बोदी के परतस को वो निघती मेन थी ओर बरा नही थी उस्सके बूबस पर। मुझे तो जैसे जन्नत ही मिल गैए थी पर मेन उस्से वहा पर चोदु कैसे ये समझ नही आ रहा था कयोनकि कोइ भी वहा आ गया तो मेरि तो वत लग जति ओर वो भी दरि हुई थी लेकिन मेन मोका जने भी नही दे सकता था तो मैने उस्सके बूबस को अपना हथ उसकी निघती मेन दलकर दबने लगा ओर निघती को उपर करके चुसने लगा ओर इस्स दोरन मैने उसके पेनती मेन एक हथ दल कर उसकि पुस्सी को रुब करने लगा जो अलरेअदी ही गिलि थी ओर मसत हो गैए ओर तब उसने कहा की जिजु रहा नही जा रहा है तो मैने उस्से मेरि गोद मेन दोनो तरफ तनगे करके बेथा लिया मैने मेरा लुनद बहर निकल कर उसकि पुस्सी पर लगा दिया ओर धीरे धीरे उनदेर करने लगा लेकिन मेरा 8” का तूल उसकि पुस्सी मेन गुस ही नही रहा था ओर उस्से पैन भी हो रहा था लेकिन उस्स रात वो दो घनते तक मुझसे मज़े लेति रही ओर मेन भी उसके सथ मज़े लेता रहा लेकिन उस्स रात मेन पुरा मज़ा उसके सथ नही ले पया ओर दुसरे दिन नेक्सत तिमे के लिये दोनो ने बये की अब मेन जलदि ही वहा पर जने की तयरि मेन हून तब मेन आगे की दसता लिखूनगा।

दोसतो कैसी लगि मेरि कहनि ये मेरि सची कहनि है दोसतो इसके लिये मुझे आप अपना एक्सपेरिएनसे मैल करना ओर अगर कोइ जैपुर से अनी अगे फ़ेमले या गिरल मुझसे चत या मैल पर बात करना चहे तो कर सकति है ओर मुझे उसपर भरोसा हुअ तो मेन उस्से फोने पर भी बात करने को रेअदी हून। मेरा एमैल rajbsweet@yahoo.co.in. सो आप सब इसि पर मैल करे

0 comments:

Post a Comment